Google AMP Kya Hai | What Is Google AMP

हाय फ्रेंड्स  आज हम Google AMP Kya Hai | What Is Google AMP व Accelerated Mobile Pages का क्या इस्तमाल है व इसके क्या फायदे क्या है आज हम इन सभी सवालों पर बात करेगे और आपको हिंदी में समझाये गे तो दोस्तों जैसा की आप जानते है की किसी भी website को रैंक करवाने व ज्यादा ट्रैफिक लाने के लिए website या blogger हो या wordpress हो उसकी लोडिंग speed तेज होनी चाहिए और यूजर इसी website को ज्यादा इस्तमाल करते है
AMP Kya Hai | What Is AMP
AMP Kya Hai | What Is AMP 

What Is Google AMP In Hindi


                             सबसे पहले AMP का पूरा नाम  Accelerated Mobile Page जिसको Google Accelerated Mobile Page भी कहते है व इसको google द्वारा बनाया गया है ताकि आपकी website
की स्पीड को बढ़ाया जा सके इसके फायदे या नुकशान जानने से पहले इसको क्यों बनाना चाइये  इसके बारे में जानते है जैसा की आप जानते होगे की आज 70 % इन्टरनेट यूजर mobile का इस्तमाल करते है व बहुत सारे user ऐसे है जिनके पास network प्रोब्लम होती है जिस कारण उनका इन्टरनेट slow चलता है  जिस कारण आपकी

website जिसको लोड करने में उसे बहुत ही ज्यादा समय लगता है तो इसी प्रोब्लम को देखते हुए google ने google AMP बनाया ताकि वो यूजर भी इसका इस्तमाल कर सके जो low network या slow कनेक्शन के कारण परेसान है

अब ये एक एसी तकनीक है जिससे आपकी website से सारे बेकार व ज्यादा लोड वाले wedget व scripts हटा दी जाती है व केवल फ़ास्ट scripts व जरूरी डाटा ही इसमें लोड होता है जिससे आपकी website सुपर फ़ास्ट हो जाती है

Google AMP कैसे काम करता है

                                तो Google AMP को अपनी website में जोड़ने से पहले आप ये जान ले की ये कैसे काम करता है तो सबसे पहले google आपकी website को स्कैन करेगा की आपकी website amp के लिए बिना किसी error के तेयार है उसके बाद वो आपके website के users की लोकेशन के हिसाब से उन एरिया में जो डाटा सेण्टर या सर्वर है वह आपकी website की कैश मेमोरी बना देता है इसके बाद जब भी slow नेट यूजर मोबाइल पर आपकी website से रिलेटेड सर्च करता है तब google अपने सर्च रिजल्ट्स में वो amp website को प्राथमिकता देता है व उन website को सबसे पहले दिखता है व जब यूजर उसपर क्लिक करता है तो अपनी cache का इस्माल कर आपकी website  को फ़ास्ट लोड करता है अब amp पेजे को google निचे दिए इमेज जेसा दिखता है एक ico के साथ
AMP Kya Hai | What Is AMP
AMP Kya Hai | What Is AMP 
इसे भी पढ़े ;-

Google AMP के फायदे क्या है

  • 1.सबसे पहला फायदा तो ये है की ये आपकी website को टॉप में दिखा सकता है बिना ranking के भी बस आपका website amp होना चाइये 
  • 2.आपकी website की स्पीड बढाता है जिससे आपके यूजर आसानी से आपकी website इस्तमाल कर सकते है 
  • 3.मोबाइल frendly website बन जाती है जिससे मोबाइल ranking बढती है 
  • 4.जिन website या blogger या wordpress पर केवल ज्यादा text होता है व कम विडियो व फोटो होती है उनको तो ये सुपर फ़ास्ट बना देती है 
  • 5.आपके सर्वर का respons time कम कर देता है जिससे आपकी website जल्दी work करती है 

इसे भी पढ़े ;-Apni Website Ya Blog Faster Bnane Ki Tricks

Google AMP के नुकशान क्या है

  • 1.तो सबसे पहला नुकशान तो यही है की आपको ये कंट्रोल कर देता है वो ऐसे की आप हर कोई कोड़ आपकी website में नही डाल सकते आपको amp frendly कोड्स ही इस्माल कर सकते है 
  • 2.आप इसमें ज्यादा ads नही लगा सकते व इसमें सभी ads ज्यादातर time लोड नही होती है जिससे आपकी कमाई में 30-40% तक कमी आ सकती है 
  • 3.google analitycs का जो log अलग-अलग tag से ट्रैक करते है जैसे -Ecommers या अन्य तो वो amp की वजह से सारे प्रकार के tags इस्माल नही कर सकते है 
  • 4.अब बात करे उन website की जिनपर ज्यादातर ads होती है जैसे ऑनलाइन स्टोर और अन्य उन के लिए ये ठीक नही है 
  • 5.अब बात की जाये की कितनी ranking बढ़ेगी तो कुछ काश असर नही पडेगा क्योकि amp केवल मोबाइल सर्च पर कम करता है 

इसे भी पढ़े ;-SSL Certificate Kya Hai & What Is SSL Certificate In Hindi

CONCLUSION 

                          आज हमने आपको Google AMP Kya Hai | What Is Google AMP  Hindi के बारे में बताया है। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताये यदि अच्छी लगी तो share करना बिलकुल भी ना भूलें। हम रोज नयी नयी जानकारी देते रहते है तो हमारे blog की email सर्विस से जरुरु जुड़े । ताकि नयी पोस्ट publish होने पर हम आपको सूचित कर सकें। अपने सवाल कमेंट में पूछे।

How to add auto Copyright Notice When copy Text

हेलो दोस्तों आज हम एक बहुत ही बढ़िया फीचर के बारे में जाने जो हर किसी वेबसाइट या blogger में होना चाहिए तो जैसा की आप जानते है की आजकल लोग एक दूसरे की वेबसाइट से डाटा भी चुराते है व उनको कोई क्रेडिट भी नहीं देते है इस कारण जो व्यक्ति सबसे पहले पोस्ट लिखता है उसे नुकशान होता है तो आज हम कोई copyright कम्प्लेटे करना नहीं बताये बल्कि एक ऐसा तरीका बताये गे जिससे आपको आपका क्रेडिट मिल जाये जब भी कोई आपका डाटा कॉपी करे How to add auto Copyright Notice When copy Text
How to add auto Copyright Notice When copy Text
How to add auto Copyright Notice When copy Text
इसे हमें इन स्टेप्स में सीखेंगे
  1. Introduction 
  2. open website editor
  3. copy and pest codes
  4. save theme

Introduction 

           तो जैसा मेने पहले ही बता दिया है की अगर आप चाहते है की जो यूजर आपका डाटा कॉपी करे वो आपको एक लिंक के जरिये creadite भी देदे इससे आपको भी फ्री मै backlinks मिल जाएगी व उसको भी डाटा ये कोड्स कुछ ऐसे काम करते है मान लो किसी ने आपकी वेबसाइट या blogger से कोई text copy किया है जैसे -How toको कॉपी किया है तो ये कोड्स उसमे आटोमेटिक उस पेज या पोस्ट की लिंक ऐड कर देंगे जैसे How to Read more at: https://www.hindihelper.com/2020/02/copyright-notice-when-copy-text.html Copyright © HindiHelper.com
तो इस प्रकार आप समझ गए होंगे की ये कैसे काम करता है व इसका इस्तमाल कर आप अपनी  किमती समय बचा सकते है
इसे भी पढ़े :-Youtube Se DoFollow Backlink Kaise Bnaye ?

How To Add Codes On Website

तो इन कोड्स को add करना बहुत ही आसान है अगर

  • Blogger 
सबसे पहले blogger में log इन कर लीजिये अब  theme पर क्लिक किजीये व अब edit html बटन को दबाये अब आपके एडिटर में <body को सर्च कीजिये व उसके निचे इन कोड्स को पेस्ट कर दे व save theme कर दीजिये  हो गया आपका auto Copyright Notice When copy Text तेयार 
How to add auto Copyright Notice When copy Text
How to add auto Copyright Notice When copy Text

  • Website And Wordpress
अब अगर आप website या wordpress यूजर है तो आपको आपके html एडिटर या file मेनेजर में जाना है व header.php  ओपन कीजिये व उसमे  <body को सर्च कीजिये व उसके निचे इन कोड्स को पेस्ट कर दे व save theme कर दीजिये  हो गया आपका auto Copyright Notice When copy Text तेयार 
इस Codes को कॉपी करे  

<script>
function addLink() {
 //Get the selected text and append the extra info
 var selection = window.getSelection(),
 pagelink = '<br /><br />Read more at: ' + document.location.href + '<br />Copyright © yourdomain.com', // Change this text
 copytext = selection + pagelink,
 newdiv = document.createElement('div');
 //hide the newly created container
 newdiv.style.position = 'absolute';
 newdiv.style.left = '-99999px';
 //insert the container, fill it with the extended text, and define the new selection
 document.body.appendChild(newdiv);
 newdiv.innerHTML = copytext;
 selection.selectAllChildren(newdiv);
 window.setTimeout(function () {
 document.body.removeChild(newdiv);
 }, 100);
 }
 document.addEventListener('copy', addLink);
</script> 

अब जो पीले रंग में यूआरएल है उसकी जगह अपने website का यूआरएल लगाये जैसे hindihelper.com 

CONCLUSION 

                                आज हमने आपको How to add auto Copyright Notice When copy Text  Hindi के बारे में बताया है। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताये यदि अच्छी लगी तो share करना बिलकुल भी ना भूलें। हम रोज नयी नयी जानकारी देते रहते है तो हमारे blog की email सर्विस से जरुरु जुड़े । ताकि नयी पोस्ट publish होने पर हम आपको सूचित कर सकें। अपने सवाल कमेंट में पूछे।

SSL Certificate Kya Hai & What is SSL Certificate In Hindi

हेल्लो दोस्तों आज हम बात करेगे की SSL Certificate Kya Hai & What is SSL Certificate In Hindi क्या होता है व हर blogger व website में इसका होना क्यों जरूरी है तो इस पोस्ट में हम इसे आसान शब्दों में समझाने की कोसिस करेगे एसएसएल सर्टिफिकेट आपको लेना चाहिए या नही इसके बारे में भी बताये गे
SSL Certificate Kya Hai & What is SSL Certificate In Hindi
SSL Certificate Kya Hai & What is SSL Certificate In Hindi

What is SSL Certificate In Hindi

     एसएसएल सर्टिफिकेट क्या है इससे पहले इसका पूरा नाम जान लेते है इसका पूरा नाम Secure Sockets Layer होता है। जिसका का आविष्कार वर्ष 1994 में NETSCAP Communications के द्वारा असुरक्षित नेटवर्क पर हमारे और सर्वर के बीच सुरक्षा को और मजबूत रखने के लिए किया गया था।तो जैसा की आप ने न्यूज़ या सोशल माडिया में पढ़ा या देखा होगा की आजकल लोगो के साथ ऑनलाइन धोखा होने लग गया है व लोगो का डाटा चुरा कर उन्हें ब्लैक मेल करते है या अकाउंट खली कर देते है

तो बदलते समय के साथ बदलना भी जरूरी है व अगर आपको आपकी website users का डाटा एइसे हैकर से बचाना है व उनको एक विश्वशनीय website उपलब्ध करवानी है तो आपको SSL Certificate की आवश्यकता पड़ेगी क्योकि SSL Certificate आपके यूजर व आपके सर्वेर के बिच एक सुरक्षित कनेक्शन बना देता है व आपके यूजर का Credit Card, Social security numbers, Usernames और Passwords आदि सुरक्षित तरीके से Share होता है जिससे आपकी website रैंक भी करेगी व यूजर खुद को सेफ महसूस करेगे

अब बात की जाये की SSL Certificate किसी website में लगा है या नही ये कैसे पता लगाये तो सबसे आसान तरीका यह है की उस website के एड्रेस में http:// से शुरू होते हैं वो बिना SSL Certificate के होती हैऔर कुछ Websites के https:// से शुरू होते हैं। इसमें जो s लगा है वो SSL Certificate  को दिखता है इसके आलावा बहुत सरे ब्राउज़र भी इसे शो कर देते है जैसा की आप इस इमेज में देख पा रहे होगे
SSL Certificate Show in Browser
SSL Certificate Show in Browser

SSL Certificate दो तरह की Keys के साथ काम करता है एक होती है Public Key और दूसरी होती है Private Key. ये दोनों Key एक साथ मिलकर हमारे वेब ब्राउज़र और वेब सर्वर के बीच एक सुरक्षित कनेक्शन को स्थापित करती है
इसे भी पढ़े :-youtube से backlink कैसे बनाये ?

How does SSL Certificate Work?

                        SSL Certificate ब्राउज़र और वेब सर्वर एक SSL Connection स्थापित करते हैं इस प्रक्रिया को “SSL Handshake” भी कहते है HTTP (Hypertext Transfer Protocol )जो की Web Browser से Web Server तक कनेक्शन बनाने का काम करता है  अब ये आपके डाटा को सर्वर तक बिना Encrypt किये ले जाता व लाता है जिससे कोई भी हैकर आपकी इनफार्मेशन को पढ़ व चुरा सकता है SSL Certificate एचटीटीपी को HTTPS ( Hypertext Transfer Protocol Secure) में बदल देता है यह जो s add हुआ है वो SSL Certificate की मोजुदगी बताता है व SSL Certificate आपके डाटा Encrypt को करके सर्वर तक भेजता या लाता है जिससे आपकी सुरक्षा बढ़ जाती है व आपको एक सुरक्षित रास्ता मिलता है

How Encryption Work ?

                 Encryption कैसे काम करता है ये हम एक उधारण से समझ सकते है मान लीजिये आप शोपिंग कर रहे है और आप अपनी निजी जानकारी भरकर सबमिट की तो जो website बिना SSL Certificate  के है उसमे ये इनफार्मेशन सीधे जाती है किन्तु जिसमे SSL Certificate  लगा होता है उसमे जेसा हमने पहले बताया की SSL Certificate  दो key का प्रयोग करता है  Public Key और दूसरी होती है Private Key. तो जो भी जानकारी आप डालते हो उसे Public Key  से  Encrypt कर सर्वर या website को भेजता है व website इसे Private Key. से decrypt कर पाती है बिच में कोई भी हैकर इसे बिना Private Key. decrypt नही सकता इस प्रकार आप समझ गये होगे की ये Encryption कैसे काम करता है
 इसे भी पढ़े :-8 बेहतरीन तरीके इंटरनेट से पैसे कमाने के -Earn Money Online

SSL Certificate Frofits

  1. अगर आपकी website में  SSL Certificate है तो यूजर आपकी website पर विश्वास कर लेते है 
  2. आपके users का डाटा सेफ रहता है 
  3.  SSL Certificate SEO ranking में भी आज महत्वपूर्ण है 
  4. ranking increase in search engine
  5. Increase Visitor on site

SSL Certificate Related Question and answer

Q1.क्या  हमें  SSL Certificate लेना जरूरी है ?
ans.अगर आप आपके यूजर से कोई भी निजी डाटा नही लेते है तो आपके लिए ये आवश्यक नही है किन्तु इसके और भी फायदे है तो आप इसे जरुर ले
Q2.क्या फ्री में  SSL Certificate लिया जा सकता है ?
Ans.हा बहुत सारे ऐसे website है जो आपको फ्री में  SSL Certificate देते है मगर ये समान्य सुरक्षा देते है अगर  आप यूजर से कोई भी निजी डाटा लेते है तो आपको इसे खरीदना ही चाहिए वो ज्यादा सुरक्षा देता है
इसे भी पढ़े :-SSL Certificate website में कैसे add करे
इसे भी पढ़े :- blogger या website में कैसे फ्री में SSL Certificate add करे

CONCLUSION 

              आज हमने आपको SSL Certificate Kya Hai & What is SSL Certificate In Hindi के बारे में बताया है। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताये यदि अच्छी लगी तो share करना बिलकुल भी ना भूलें। हम रोज नयी नयी जानकारी देते रहते है तो हमारे blog की email सर्विस से जरुरु जुड़े । ताकि नयी पोस्ट publish होने पर हम आपको सूचित कर सकें। अपने सवाल कमेंट में पूछे।

Schema Markup Kya hai | Search Engine me kyo Jruri hai

तो जैसा की आपने titel पढ़ ही लिया होगा की आज हम Schema Markup Kya hai | Search Engine me kyo Jruri hai व What is Schema Markup and Why It is Important for SEO in Hindi इससे कैसे अपनी website या blogger या wordpress की rank बढाये तो दोस्तों स्कीमा मार्कअप एक महतवपूर्ण सब्जेक्ट है पढने व सिखने के लिए तो आएये जानते है इसके फायदे व नुकशान व इसके प्रकार और अगर आपको ये पोस्ट पसद आये तो एक  प्यारा सा कमेंट जरुर करे
Schema Markup Kya hai | Search Engine me kyo Jruri hai
Schema Markup Kya hai | Search Engine me kyo Jruri hai 

What Is Schema Markup ?

        तो स्कीमा मार्कअप  या schema structure data जो की Schema.org site पर है वो इसकी ऑफिसियल site है जहा पर इसको समझाया गया है schema markup एक एसा html tag होता है जो google ,yahoo ,bing आदि सर्च इंजन को आपकी website समझने व बढिया से आपकी website सर्च रिजल्ट्स में दिखने में मदद करता है जिससे google व आपका time बचता है व आपकी website आसानी से रैंक भी करती है वेसे तो सभी teplate या थीम में ये पहले से आता है पर इसे अछे  से अपनी website के अनुसार लगाकर आप अपनी website को ओरो से अलग व सर्च engine में रैंक करवा सकते है
Showing star rating using schema markup
Showing star rating using schema markup
जैसा की आप इस इमेज में देख पा रहे होगे की schema से आप अपनी website की ranking व बहुत साडी जानकारिय सर्च इंजन में ही दिखा सकते है
इसे भी पढ़े :-

schema markup type 

        तो दोस्तों ये भहुत से प्रकार का है आप अपने अनुसार इसे इस्तमाल कर सकते है 
  • Business
  • Breadcrumbs
  • Organizations
  • PersonPlace
  • Votes
  • Rating
  • Review
  • People
  • Events
  • Products
  • Recipes
  • Videos
इसे भी पढ़े ;-
इनमे से आप चाहे वो इस्तमाल कर सकते है इन सभी का अपना अपनामहत्वपूर्ण  काम है आप कुछ images को देख कर समझ सकते है 
Recipes Schema markup example image
Recipes Schema markup example image
Breadcrumbs,star rating, product markup,video , Schema markup example image
Breadcrumbs,star rating, product markup,video , Schema markup example image
Orgnizations Schema markup example image
Orgnizations Schema markup example image
अब आप समझ गये होगे की ये कैसे काम करता है इन सभी को website या blogger में add करना हम अलग से  पोस्ट्स में समझाये गे

schema Marcup Codes Types

 इसमें आपको 
  • Microdata 
  • RDFa
  • JSON-LD 
अभी तक तो तिन ही प्रकार की कोडिंग मिलती है जो की इसे अपने website में add करने में सहायक है अपने अन्य सवाल कमेंट में पूछे 
इसे भी पढ़े ;-

CONCLUSION 

                   आज हमने आपको Schema Markup Kya hai | Search Engine me kyo Jruri hai  In Hindi के बारे में बताया है। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताये यदि अच्छी लगी तो share करना बिलकुल भी ना भूलें। हम रोज नयी नयी जानकारी देते रहते है तो हमारे blog की email सर्विस से जरुरु जुड़े । ताकि नयी पोस्ट publish होने पर हम आपको सूचित कर सकें। अपने सवाल कमेंट में पूछे।

[Solved] How to Fix data-vocabulary.org schema deprecated (optional) Error

हेल्लो दोस्तों google webmaster या Search Console, का एक और नया अपडेट आ गया है जिस कारण बहुत सारे devloper यानि website या blogger या wordpress ओनर को google की तरफ से एक ईमेल भेजा गया है जिसमे की Breadcrumb error दिखाया गया है तो इस पोस्ट में हम उसे कैसे fix करे व [Solved] how to fix  data-vocabulary.org schema deprecated (optional) Error – Google WebMaster  ये क्या है इसके बारे में विस्तार से जानेगे अगर आपको पोस्ट पसद  आये तो अपने दोस्तों में शेयर जरुर करे व एक प्यारा सा कमेंट जरुर करे
[Solved] data-vocabulary.org Breadcrumb Error – Google WebMaster
[Solved] data-vocabulary.org Breadcrumb Error – Google WebMaster

data-vocabulary.org Breadcrumb Error क्या है ?

                                       तो बात की जाये की data-vocabulary.org Breadcrumb क्या है तो ये structured data प्रोवाइड करवाता है यानि schema मार्कअप की तरह google को या अन्य सर्च इंजन को आपकी website को अछे से समझने व बहतरीन रिजल्ट्स शो करवाने में मदद करता है लेकिन हाल ही में google ने निधारित किया है की वो अब केवल schema markup को ही अपने सर्च रिजल्ट्स में दिखाए गा व इसे और बहतर बनाने पर कम करेगा इसलिए उन्होंने  अप्रैल 2020 के बाद से data-vocabulary.org को मान्य नही किया है जिस कारण उन व्यक्तियों को ईमेल भेजा गया है जो data-vocabulary.org का इस्तमाल अपने teplate या theme में करते है 

data-vocabulary.org Breadcrumb Errorकैसे सोल्व करे 

                                  तो अगर आपको इसे सही करना है तो ये बहुत ही आसान है किन्तु अगर आपको कोडिंग नही आती तो अपने devloper को कहे या आपके theme का अपडेट आने का इंतजार करे व जिनको कोडिंग आती है वो इस तरीके से इसे fix कर सकते है 
Step1;- सबसे पहले तो structired data testing tool पर जाकर एक बार चेक कर ले की वास्तविकता में आपको ये error आ रहा है या नही इसके लिए इसकी website पर जाकर अपनी कोई भी पोस्ट की लिंक डाल कर रन टेस्ट करे  Breadcrumb Error आ रहा है तो ये steps फॉलो करे सबसे पहले अपने थीम का एक बैकअप बना ले ताकि कोई गलती होने पर आप अपनी website सही कर सके 

Steps2:- इसे हम तिन भागो में समझे गे
1.Blogger अगर आप एक blogger यूजर है तो आप अपने थीम एडिटर ओपन कीजिये व  breadcrumb var='posts' सर्च करे व उससे लेकर आगे वाले </div > या  </b:includable> तक सारा कोड select कर remove कर दे व ये कोड वहा डाले
<!-- breadcrumb start --><b:includable id='breadcrumb' var='posts'><b:if cond='data:blog.homepageUrl != data:blog.url'>  <ol id='breadcrumb' typeof='BreadcrumbList' vocab='http://schema.org/'>  <li property='itemListElement' typeof='ListItem'> <a expr:href='data:blog.homepageUrl' property='item' typeof='WebPage'> <span property='name'>Home</span></a> <meta content='1' property='position'/> </li> <b:if cond='data:blog.pageType == &quot;static_page&quot;'> <li><data:blog.pageName/></li> <b:else/> <b:if cond='data:blog.pageType == &quot;item&quot;'> <!-- breadcrumb for the post page --> <b:loop values='data:posts' var='post'> <b:if cond='data:post.labels'> <b:loop index='index' values='data:post.labels' var='label'> <!-- b:if cond='data:label.isLast == &quot;true&quot;' --> <li property='itemListElement' typeof='ListItem'> <a expr:href='data:label.url' property='item' typeof='WebPage'> <span property='name'><data:label.name/></span></a> <meta expr:content='data:index + 2' property='position'/> </li> <!-- /b:if --> </b:loop> <li><data:post.title/></li> <b:else/> <li>Unlabelled</li> </b:if> </b:loop> <b:else/> <b:if cond='data:blog.pageType == &quot;archive&quot;'> <!-- breadcrumb for the label archive page and search pages.. --> <li>Archives for <data:blog.pageName/></li> <b:else/> <b:if cond='data:blog.pageType == &quot;index&quot;'> <b:if cond='data:blog.pageName == &quot;&quot;'> <li>All posts</li> <b:else/> <li>Posts filed under <data:blog.pageName/></li> </b:if> </b:if> </b:if> </b:if> </b:if> </ol>  </b:if> </b:includable> <!-- breadcrumb end -->
add html data-vocabulary.org Breadcrumb Error
add html data-vocabulary.org Breadcrumb Error

और अब आप breadcrumb दोबारा से सर्च करे व css या style के अंदर ढूढे व उस कोड को हटा कर ये कोड लगा दे

/* breadcrumb */
ol#breadcrumb{ font-size:13px; padding: 8px; }
#breadcrumb li { display: inline; list-style-type: none; }
#breadcrumb li:after { content: " > "; }
#breadcrumb li:last-child:after { content: none; }
add css data-vocabulary.org Breadcrumb Error
add css data-vocabulary.org Breadcrumb Error

अब अपने थीम को save कर दे व rich test में चेक करे व अगर कोई प्रोब्लम है तो कमेंट करे
आप अपने css से इसे अछे से बना सकते है

2.Wordpress
  अब अगर आप wordpress यूजर है तो आप कोई ना कोई plugin यूज़ करते होगे तो अपने प्लग इन का अपडेट आने तक इंतजार करे क्योकि अप्रैल से पहले इसकी वजह से आपकी रेंक में कोई फर्क नही पड़ेगा इसके अलावा आप website का तरीका यूज़ कर सकते है

3.Websites
इसके उपर हम खोज रहे है बढिया तरीका मिलते ही हम इसे पोस्ट में अपडेट कर देगे 
data-vocabulary.org Breadcrumb Error fixed
 data-vocabulary.org Breadcrumb Error fixed

अन्य data-vocabulary.org Breadcrumb Error के सवाल -जबाब 

Q1.क्या data-vocabulary.org Breadcrumb Error के कारण हमारी website की रैंक या सर्च ट्रेफिक पर कोई असर पड़ेगा 
ANS.नही अगर आप अप्रैल 2020 से पहले इसे fix कर लेते है तो कोई फर्क नही पड़ेगा  ये येलो वार्निंग में है तो आप इसे अप्रैल तक आराम से सही क२ सकते है 
Q2.क्या ये सभी को करना पड़ेगा ?
ANS.नही केवल जिनको ईमेल गया है वो ही करे फिर भी आप चाहे तो structired data testing tool पर जाकर एक बार चेक कर ले
Q3.लास्ट डेट क्या है ?
ANS.इसकी लास्ट डेट अप्रैल 2020 है 
इसे भी पढ़े :-Scheme Markup क्या है ?

CONCLUSION 

                     आज हमने आपको [Solved] data-vocabulary.org schema deprecated (optional) Error – Google WebMaster In Hindi के बारे में बताया है। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताये यदि अच्छी लगी तो share करना बिलकुल भी ना भूलें। हम रोज नयी नयी जानकारी देते रहते है तो हमारे blog की email सर्विस से जरुरु जुड़े । ताकि नयी पोस्ट publish होने पर हम आपको सूचित कर सकें। अपने सवाल कमेंट में पूछे।

PayPal Account Kaise Bnaye ?

तो आज को हमारा टॉपिक है PayPal पर अकाउंट कैसे बनाये! या PayPal Account Kaise Bnaye ? या how to make account on paypal wallet तो आज आप सीखेगे की कैसे paypal पर अकाउंट बनता है व इसे कैसे यूज़  करे तो पूरी पोस्ट ध्यान से पढ़े व एक प्यारा सा कमेंट जरुर करे व इस पोस्ट को ज्यादा से  ज्यादा शेयर करे
आज के समय सबसे ज्यादा डिजिटल पेमेंट बढ़ रही है और इसीलिए ऑनलाइन फ्रौड भी बढ़ रहे है ऐसे में paypal एक सुरक्षित पेमेंट सर्विसेज है जो आपको ना केवल आपके देश में बल्कि पुरे दुनिया में पेमेंट करने की सर्विस देता है साथ ही इसे इस्तमाल करने पर आपकी निजी जानकारी भी किसी को पता नही चलता है
PayPal Account Kaise Bnaye ?
PayPal Account Kaise Bnaye ?

Paypal पर अकाउंट क्यों बनाना चाहिए ?

     1.अगर आप ऑनलाइन सुरक्षित रूप से पेमेंट करना चाहते है
     2.अगर आपके पास इंटरनेशनल पेमेंट करने की इजाजत आपका बैंक नही देता व आप अन्य देश में शोपिंग  व पेमेंट सेंड करना चाहते है
     3.आप अपनी गुप्त जानकारी किसी को बिना बताये पेमेंट करना चाहते है
     4.paypal एक पुरानि व विस्वसनीय सर्विसेज है
इसे भी पढ़े ;-Youtube Views/ Visitor Bdhane KI Top Trick

Paypal अकाउंट बनाये :-

Step1:-  needs 
 paypal अकाउंट बनाने के लिए
  1.जीमेल आई डी
  2.बैंक अकाउंट नंबर
  3.पेन  कार्ड
  4.क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड
  5.मोबाइल नंबर
आवश्यक है
Step2:-Open Account 
आपको अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले paypal website पर जाये व न्यू singup पर क्लिक करे यह आपको तीन आप्शन आयेगे
 For Shoppers - जो केवल शोपिंग के लिए
For Business- जो बिज़नस में
 For Freelancer-
अब आपको अपनी निम्न जानकारिया भरनी है -
Enter Your Name – पूरा नाम (जो पेन कार्ड पर हो)
 Enter Mobile Number – मोबाइल नंबर (जो बैंक अकाउंट से लिंक हो)
Address – पूरा पता (पिनकोड सहित)
Date Of Birth – आपकी जन्म तारीख (D.O.B.) इंटर करे।
 यह सब डिटेल्स डालने के बाद आप Agree & Create Account पर क्लिक कीजिये।
इसे भी पढ़े ;-Top 5 Money Earn Trick Frome YouTube
Step3:-Link Card
अब एक न्यू विंडोज में आपसे आपके डेबिट या  क्रेडिट कार्ड की जानकारी भरनी है यदि अभी आपके पास आपका कार्ड नही है तो आप I’ll Link My Card Later पर क्लिक कर इसे बाद में दे सकते है
Card Number – डेबिट व् क्रेडिट कार्ड का पूरा नंबर
 Expiry Date – डेबिट व् क्रेडिट कार्ड की वैधता तिथि
CVV – डेबिट व् क्रेडिट कार्ड का CVV नंबर
add Card In Paypal
Add Card In Paypal

भरने के बाद लिंक कार्ड पर क्लीक करे व आपके ईमेल एड्रेस पर जो ईमेल आया है उसे वेरीफाई करे

How To Use Paypal

   अब आपने अकाउंट तो बना लिया है अब इसे इस्तमाल करना भी सीखे -
Send And Recieve Money :- अब अगर आपको किसी को पैसे भेजने है या उससे अनुरोध करना है तो Paypal Account Log In कीजिये और Send And Request में जाये तथा पैसा प्राप्त करने वाले व्यक्ति का ई-मेल एड्रेस डालिए। इसके बाद जितनी धनराशी भेजना है वो डालिए, फिर Send पर क्लिक कर दीजिये
Shopping :-अब अगर आप किसी जगह शौपिंग कर रहे है तो पेमेंट methode में paypal चुने व अपने अकाउंट में log इन कर पेमेंट करे
इसे भी पढ़े ;-SEO Kya hai – What is SEO In Hindi

CONCLUSION

 आज हमने आपको PayPal Account Kaise Bnaye ? In Hindi के बारे में बताया है। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताये यदि अच्छी लगी तो share करना बिलकुल भी ना भूलें। हम रोज नयी नयी जानकारी देते रहते है तो हमारे blog की email सर्विस से जरुरु जुड़े । ताकि नयी पोस्ट publish होने पर हम आपको सूचित कर सकें। अपने सवाल कमेंट में पूछे।